छापेमारी से मचा हड़कंप, दवाएं जब्त

इंदिरापुरम। दिल्ली से सटे गाजियाबाद में केंद्र और राज्य औषधि विभाग की संयुक्त टीम ने छापेमारी की तो हड़कंप मच गया। यहां इंदिरापुरम के प्रह्लादगढ़ी में केंद्र और राज्य औषधि विभाग की संयुक्त टीम ने छापेमारी कर एक हकीम को दबोचा। इस हकीम पर आरोप है कि उसने देसी दवा में अंग्रेजी दवा मिलाने का काम किया है, जो कि कहीं से भी जायज नहीं है।

बताया गया है कि विभाग की सुंयक्त टीम ने हकीम की दुकान से 200 से ज्यादा शीशी जब्त की है। टीम की शिकायत पर आरोपी हकीम इकरार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

जिला औषधि निरीक्षक जुनाब अली ने बताया कि केंद्रीय दवा मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) को शिकायत मिल रही थी कि प्रह्लादगढ़ी में इकरार अहमद नामक हकीम रहता है। वह गठिया की अपनी देसी दवा में अंग्रेजी दवा मिलाकर मरीजों को देता है। इस पर केंद्रीय टीम ने कुछ दिन पूर्व एक मरीज भेजकर वहां से दवा मंगवाई थी। इसके बाद उस दवा को गाजियाबाद स्थित लैब में जांच कराया गया। अधिकारी का दावा है कि जांच रिपोर्ट में देसी दवा में अंग्रेजी दवा फिनाइन ब्यूटाजोन पाई गई है। जो कि अल्सर, किडनी और लीवर क्षतिग्रस्त होने के अलावा इंटरनल ब्लीडिंग का बड़ा कारण मानी जाती है। ये देखते हुए कि हकीम द्वारा गलत काम किया जा रहा है, छापेमारी का फैसला लिया है।