महंगी दवाओं पर लगेगी लगाम!

चंडीगढ़। दवाओं के दाम आज के समय में इतने बढ़ गए है कि आम लोगों के लिए इनका इस्तेमाल काफी मुश्किल भरा हो गया है। ऐसे में अब इन महंगी दावओं के दामों पर लगाम लगाने की एक कोशिश की गई है। बताया जाता है कि निजी अस्पतालों दवाइयों से भारी मुनाफा कमाते है जिसका सीधा नुकसान मरीज को होता है। अब ये मामला कोर्ट पहुंच चुका है।

निजी अस्पताल मार्कीट रेट से काफी अधिक रेट में दवाइयां बेचते हैं। यह न्यायोचित नहीं है और गैर-कानूनी व असंवैधानिक है। ऐसे ही कई गंभीर आरोपों को लेकर वैटर्नरी कॉलेज हिसार में वैज्ञानिक के रूप में कार्यरत हिसार निवासी डॉ. संदीप कुमार गुप्ता ने पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की है। इसमें केंद्र सरकार, हरियाणा सरकार, पंजाब सरकार एवं नेशनल फार्मास्यूटिकल प्राइसिंग अथॉरिटी, डिपार्टमैंट ऑफ फार्मास्यूटिकल्स नई दिल्ली को पार्टी बनाया है।

इस मामले को गंभीर देखते हुए जस्टिस टी.पी.एस. मान और जस्टिस अनूपइंद्र सिंह ग्रेवाल की कोर्ट ने मामले में केंद्र समेत अन्य प्रतिवादियों को 1 मई के लिए नोटिस जारी किया है। मामले में सुनवाई के बाद उम्मीद लगाई जा रही है कि महंगी दवाओं पर लगाम लग सकती है।