शराब के बाद अब दवा पीने लगे चूहे

पटना। बिहार में चूहों को लेकर दहशत का माहौल है। कुछ समय पहले चूहों ने गोदाम के अनाज में सेंध लगाया फिर थानों के मालखानों में रखी शराब पी गए और अब अस्पताल के दवा भंडार रूम में मरीजों की दवा को पीने लगे हैं। राजधानी पटना के नालंदा मेडिकल कॉलेज में चूहों ने तबाही मचा दी है। चूहे दवा भंडार रूम में रखी दवाओं को बर्बाद कर रहे हैं। अस्पताल में जहां मरीजों को पर्याप्त दवा उपलब्ध नहीं हो रही है।

वहीं, चूहों ने इमरजेंसी वार्ड के दवा भंडार रूम में रखी दवाइयों की बोतलों को काट कर दवा पी रहे हैं। इस बारे में अस्पताल के दवा स्टोर की इंचार्ज का कहना है कि चूहे तबाही मचा रहे हैं। उन्होंने बताया कि स्टोर का दरवाजा टूटा हुआ है जिससे चूहे स्टोर में घूस आते हैं और दवा की बोतलों को काट कर पी जाते हैं। यहां तक कि मरीजों को चढ़ाये जाने वाले सलाइन जिसमें ग्लूकोज होता है, उसे आराम से पी जाते हैं। सलाइन के बर्बाद होने से दवाइयों का हिसाब देने में भी परेशानी आ रही है।

उन्होंने इस मामले की सूचना पहले ही अस्पताल प्रशासन को दे दी है। उधर, अस्पताल अधीक्षक का कहना है कि चूहे से बचाव के लिए टूटे दरवाजे की मरम्मत कराया जाएगा और चूहों के आतंक से निजात पाने के लिए पिंजरे का उपयोग किया जाएगा। हालांकि कुछ लोगों का कहना है कि दवाइयों की बंदरबाट का खेल भी चलता है और आरोप चूहों पर लगाया जा रहा है।