दवा कंपनी ने कर डाला फ्रॉड

मंगलौर। पुलिस ने दिल्ली की एक दवा कंपनी के सात अधिकारियों पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया है। आरोप है कि दिल्ली की इस कंपनी ने मंगलौर क्षेत्र की दवा कंपनी को अलग-अलग बैंकों के चेक दिए थे। यह सभी चेक बाउंस हो गए थे। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।
पुलिस के अनुसार मंगलौर की जीएस फार्मा कंपनी का नावा हेल्थ केयर प्राइवेट लिमिटेड गुरुनानक विहार नई दिल्ली से दवाओं का कारोबार चलता है। जीएस फार्म दवा कंपनी के डायरेक्टर विवेक अरोड़ा ने मंगलौर पुलिस को शिकायत में बताया कि उनकी कंपनी का दिल्ली की इस कंपनी पर 68 लाख 94 हजार 84 रुपये बकाया था। दिल्ली की कंपनी ने भुगतान करने के लिए अलग-अलग बैंकों के चेक दिए। जब जीएस फार्मा कंपनी ने खाते में चेक लगाए तो यह सभी चेक बाउंस हो गए थे। इस बारे में दिल्ली की कंपनी को अवगत कराते हुए रकम का भुगतान कराने को कहा। इसके बावजूद कंपनी ने भुगतान नहीं किया। जिस पर पुलिस में शिकायत दी गई। पुलिस ने कंपनी के अधिकारी वाणी सूरी, संजय यादव, मेमनी राम श्रीनिवासन, हिम्मत सूरी, शिवाली जोशी, संतोष सूरी, नारायणी वैंकेट रमन पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया है।