छापामारी के दौरान 25 लाख की अमानक दवा मिली

पटना। ड्रग विभाग की टीम ने कंकड़बाग के अशोक नगर स्थित एक मकान में छापेमारी कर 25 लाख की अमानक और एक्सपायरी दवा जब्त की है। ड्रग इंस्पेक्टर सच्चिदानंद ने बताया कि ड्रग माफिया नवादा निवासी संजय ने किराये के मकान में गोदाम बना रखा था। वह यहां से रिटेलर के पास नकली दवा सप्लाई करता था। बरामद की गई अमानक दवाइयां कई बड़ी कंपनियों के नाम पर तैयार जा रही थी।
ड्रग इंस्पेक्टर के अनुसार ये सारी नकली दवाइयां बाहर से सप्लाई हो रही थी और यहां सिर्फ बड़ी कंपनियों के नाम से पैकिंग कर रिटेलर को बेची जा रही थी। मौके से कई नामी कंपनियों के होलोग्राम भी बरामद किए गए हैं। फिलहाल आरोपी संजय फरार बताया जा रहा है। ड्रग इंस्पेक्टर ने बताया कि जो दवाएं मिली हैं, वे विभिन्न बीमारियों की हैं।
उनमें एमलोडिपिन, मोंटेक (एमपी), टेबिना, ए टू जेड, ओटू, पैनटेक-डी, स्टेमेटिल (एमडी), एम्लोडेक, सोमप्राज-डी (40), डाइलोना इंजेक्शन, नियोपेप्टिन, कैलकल आदि शामिल हैं। फिलहाल इन दवाओं की कीमत करीब 25 लाख रुपए आंकी गई है। कुछ ऐसी भी दवाएं मिली हैं जिन पर रैपर ही नहीं है। काफी संख्या में रैपर भी बरामद किए गए हंै। प्राथमिक जांच से यह पता चलता है कि दवाएं नकली हैं। कुछ दवाएं अर्धनिर्मित हैं। यानी यहां दवा तैयार भी की जाती है। सभी दवाओं के सैंपल जांच के लिए भेज दिए गए हैं।