फार्मा ‘डावस्ग्रे’ के नाम से बिक रही नकली दवा…..

रायबरेली। उत्तर प्रदेश में नकली दवा का कारोबार धड़ल्ले से जारी है। इससे किसी का नुकसान हो रहा है तो वो मरीज है। आम जनता के स्वास्थ्य से लगातार खिलवाड़ किया जा रहा है तो प्रशासन आंखें बंद किये हुए दिखाई पड़ रहा है। नया  मामला रायबरेली जनपद से सामने आया है जिसने सभी को हैरान कर दिया है।

गत दिवस शहर कोतवाली पुलिस ने एक नकली दवा बनाने की फैक्ट्री का खुलासा किया। पुलिस ने छापेमारी के दौरान एक युवक को गिरफ्तार किया, साथ ही भारी मात्रा में फर्जी लेबल लगाकर नकली दवाओं को भी पुलिस ने बरामद किया है।

पुलिस के मुताबिक, मंबई की एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी डावस्ग्रे के नाम से एक युवक द्वारा नकली दवा बनाकर बिक्री कर रहा था। दवा कम्पनी के जांचकर्ता चन्द्रेश्वरा सिंह निवासी खलौली जनपद मधुबनी बिहार ने बताया कि वह उक्त कंपनी में तैनात है। उन्हें सूचना मिली थी कि कम्पनी के नाम से फर्जी दवा बनाकर बेची जा रही है। जिसके बाद मामले की जानकारी कोतवाली पुलिस को दी गई।

पुलिस ने शहर के खाली सहाट मोहल्ले में एक मकान में छापा मारकर फर्जी कारोबार कर रहे युवक को दबोच लिया। पुलिस ने नकली दवा का कारोबार कर रहे युवक राहुल चौधरी पुत्र देवनरायन चौधरी को मौके से गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए युवक के पास से पुलिस टीम ने एक बोरी नकली दवाओं की शीशी सहित रैपर बरामद किया। जांच में सभी दवाए फर्जी पाई गई, शहर पुलिस ने संबंधित धाराओं में मामला दर्ज कर युवक को जेल भेज दिया।