दवा व्यापारी भड़के, स्टोर बंद कर किया प्रदर्शन

गोरखपुर। भालोटिया मार्केट के दवा व्यापारियों ने मूलभूत सुविधाओं की मांग को लेकर अपनी दुकानें बंद रखी और विरोध प्रदर्शन किया। प्रशासन को कई बार शिकायत के बाद भी जर्जर सडक़ और जलनिकासी व्यवस्था में सुधार न होने पर दवा विक्रेता समिति के पदाधिकारियों ने कड़ी नाराजगी जताई। उन्होंने 15 दिन में मांगों पर संतोषजनक कार्रवाई न होने पर अनिश्चितकालीन बंद की चेतावनी भी दी।

दवा विक्रेता समिति ने समस्याओं के संबंध में प्रशासन को ज्ञापन देने की योजना बनाई थी, लेकिन सुबह मंडी की हालत देखकर दवा व्यापारी भडक़ गए। नालियों का पानी भालोटिया मार्केट में घुसने वाले रास्तों पर भरा हुआ था। आने-जाने की कोशिश में दो लोग गंदे पानी में गिर भी गए। जलभराव इतना था कि पानी कई दुकानों में भी चला गया। इस पर दवा विक्रेता समिति के पदाधिकारियों के साथ व्यापारियों ने दुकानें बंद करके प्रदर्शन शुरू कर दिया। इस मौके पर समिति के अध्यक्ष योगेंद्र नाथ दुबे ने कहा कि कई वर्षों से भालोटिया मार्केट उपेक्षित रही है। दर्जनों बार अधिकारियों को लिखित शिकायत देने के बावजूद सिर्फ आश्वासन ही मिला है। महामंत्री आलोक चौरसिया ने कहा कि अब आश्वासन से काम नहीं चलेगा, हमें एक्शन देखना है। निर्णायक लड़ाई की शुरुआत हो चुकी है। जरूरत पड़ी तो अनिश्चितकालीन बंद के लिए भी तैयार हैं। यह आश्चर्यजनक है कि जिस नगर आयुक्त को स्वच्छता के लिए सम्मानित किया गया उन्हें नगर निगम के गेट के ठीक सामने भालोटिया मार्केट की दुर्दशा दिखाई नहीं दे रही है।

नगर आयुक्त पीपी सिंह और सिटी मजिस्ट्रेट विवेक श्रीवास्तव सूचना पर मौके पर पहुंचे। उन्होंने दवा विक्रेताओं से बात करके शीघ्र समस्याओं के समाधान का आश्वासन दिया। अधिकारियों ने जलनिगम की टीम मौके पर बुलाई। इसके बाद व्यापारियों ने प्रदर्शन खत्म किया और दुकानें खोलीं। प्रदर्शन करने वालों में समिति के उपाध्यक्ष राजेश तुलस्यान, अनुराग अग्रवाल, अर्जुन अग्रवाल, संयुक्त मंत्री निलेश कुमार अग्रवाल, नरसिंह पांडेय, छोटेलाल, दिलीप गुप्ता, अशोक कुमार गुप्ता, दीपक, रोहित बंका, राजीव त्रिपाठी, नितिन गुप्ता, शैलेश तिवारी, सतीश अग्रहरि, टोनी गोयल, सुनील सिंह, मुकेश, अभिषेक श्रीवास्तव, अवनीश अग्रवाल, सुबोध अग्रवाल, जवाहर लाल गुप्ता, राजेश कुमार सिंह, राजेश अग्रवाल, रवि जायसवाल आदि शामिल रहे।