पीएंडजी करेगी दवा कंपनी मर्क लिमिटेड का अधिग्रहण

मुंबई। उपभोक्ता उत्पाद निर्माता कंपनी प्रॉक्टर एंड गैंबल (पीएंडजी) जर्मनी की दवा कंपनी मर्क की भारत में लिस्टेड मर्क लिमिटेड का अधिग्रहण करेगी। बताया गया है कि पीएंडजी मर्क लिमिटेड में 51.8 फीसदी हिस्सा करीब 12.9 अरब रुपए में खरीदेगी। शेयर बाजार को दी जानकारी में मर्क ने कहा कि पीएंडजी ने मर्क लिमिटेड के 43,15,840 शेयरों की हिस्सेदारी खरीदने के लिए 647.53 करोड़ रुपए खुली पेशकश की है। यह कंपनी में 26 फीसदी हिस्सेदारी के बराबर है, जिसे वह आम लोगों से खरीदेगी। इसके लिए प्रति शेयर कीमत 1500 रुपए रखी जाएगी।

 विक्स, ओरल-बी और व्हिस्पर बनाने वाली पीएंडजी को मर्क के पोर्टफोलियो से सेवन सीज और न्यूरोबियोन जैसे विटामिन ब्रांड मिल जाएंगे। साथ ही उसे बंद नाक खोलने की दवा नेसीवियन भी मिल जाएगी। इस सौदे से देश में ग्राहक स्वास्थ्य कारोबार के क्षेत्र में पीएंडजी की स्थिति और मजबूत हो जाएगी। इससे पीएंडजी रेकिट बेंकिजर, नेस्ले और यूनिलीवर जैसी कंपनियों की जमात में शामिल हो जाएगी जिन्होंने हाल के वर्षों में देश में अपने ग्राहक स्वास्थ्य कारोबार का विस्तार किया है। रेकिट बेंकिजर लोकप्रिय ब्रांड डेटॉल बनाती है जबकि नेस्ले पोषण के क्षेत्र में है। यूनिलीवर का ब्रांड लाइफबॉय है।

 गौरतलब है कि मर्क भारत में सूचीबद्घ और गैर सूचीबद्घ कंपनियों के जरिये कारोबार करती है। उसके प्रमुख कारोबार में दवा, रसायन और लेबोरेट्री सॉल्यूशंस शामिल है। कंपनी की सालाना बिक्री 10 अरब रुपये से ज्यादा है जिसमें से 77 फीसदी दवा कारोबार से आता है।  इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च ने अपनी हालिया रिपोर्ट में कहा कि मर्क के भारतीय राजस्व में ग्राहक स्वास्थ्य श्रेणी में कंपनी के स्थापित ब्रांड की हिस्सेदारी करीब 20 से 50 फीसदी है।

मर्क के अनुसार वह अपनी सूचीबद्घ कंपनी के गैर उपभोक्ता कारोबार के लिए भी विकल्पों का आकलन कर रही है जिसमें दिल के रोगों और मधुमेह की दवा तथा रसायन कारोबार शामिल हैं। मौजूदा सौदे के तहत मर्क और पीएंडजी ने विनिर्माण, आपूर्ति और सेवा के कई समझौतों पर सहमति जताई है जिनमें मर्क के गोवा संयंत्र का अधिग्रहण शामिल है। इसके अलावा वह 8,599,224 शेयरों की खरीद एक्समीडिया एक्सपोर्ट कंपनी और मर्क इंटरनेशनल बेटेलीगुनगेन और केमिट्रा से खरीदेगी। इस प्रकार कुल हिस्सेदारी 51.8 फीसदी होगी।