नौ डॉक्टरों का रजिस्ट्रेशन सस्पेंड

सोनीपत। ऑपरेशन के बाद महिला की मौत के मामले में नौ डॉक्टरों का रजिस्ट्रेशन सस्पेंड कर दिया गया है। इंडियन मेडिकल काउंसिल (एमसीआई) के फैसले पर यह कार्रवाई हरियाणा मेडिकल काउंसिल ने की। गढ़ी ब्राह्मणा गांव की महिला के इलाज के समय अस्पताल में कार्यरत रहे 9 डॉक्टरों में से सात डॉक्टरों का रजिस्ट्रेशन 15 दिन के लिए और दो का रजिस्ट्रेशन एक-एक माह के लिए सस्पेंड किया है।

शिकायतकर्ता रमेश कुमार खत्री निवासी गांव गढ़ी ब्राह्मणा ने बताया कि 2010 में उन्होंने विज्ञापन पढ़ा था कि बच्चेदानी व अन्य कई ऑपरेशन दूरबीन से किए जाते हैं और चार घंटे में छुट्टी दे दी जाती है। इस पर उन्होंने अपनी पत्नी अनीता को सक्सेशन मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल में दाखिल कराया। 16 दिसंबर 2010 को डॉक्टर ने खून की कमी बताकर तीन यूनिट रक्त चढ़ाना शुरू किया। तभी पत्नी की हालत बिगड़ गई। बच्चेदानी का ऑपरेशन किया गया। इसके बाद पत्नी को गंगाराम अस्पताल रेफर कर दिया। यहां 29 दिसंबर को उसने दम तोड़ दिया। इस बारे में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन को शिकायत दी थी।

मृतका के पति का आरोप है कि 2013 में उपरोक्त ऑर्डर दिए थे, लेकिन हरियाणा मेडिकल काउंसिल ने हाईकोर्ट में डॉक्टरों की अपील खारिज करने के बाद भी इस पर एक्शन नहीं लिया। उसने सीएम विंडो पर शिकायत दी तो कार्रवाई हुई है। 15 दिन के लिए डॉ. दिव्या, डॉ. राकेश, डॉ. प्रशांत त्यागी, डॉ. डीके श्रीवास्तव, डॉ. गरिमा, डॉ. सीमा, डॉ. अनुराग अरोड़ा का रजिस्ट्रेशन सस्पेंड किया गया। डॉ. अनुपमा सेठी व डॉ. अखिल सक्सेना का एक माह के लिए रजिस्ट्रेशन सस्पेंड करने के निर्देश दिए गए है।