फर्जी अस्पताल चलाने पर दंपती नामजद 

बहल (हरियाणा)। गांव नूनसर के दंपती के खिलाफ फर्जी रूप से अस्पताल का संचालन करने और लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस को दी शिकायत में बीसीएमओ ने बताया कि नूनसर, बहल निवासी डॉ. रमेश यादव उर्फ रमेश यादव की ओर से चांदगोठी गांव में यादव हॉस्पिटल संचालित किया जा रहा है। जांच में रमेश यादव व उसकी पत्नी सुनीता यादव व हरी के पास कोई चिकित्सक की डिग्री और डिप्लोमा आदि नहीं मिला। जांच के दौरान अस्पताल में तीन मरीज भर्ती करके उनका इलाज किया जा रहा था।
अस्पताल में सुनीता यादव जिसका उपचार पत्र व लेटर है, पर डॉ. सुनीता यादव लिखा हुआ है। उल्लेखनीय है कि पिछले कई वर्ष से चांदगोठी में अनाधिकृत रूप से यादव हॉस्पीटल चल रहा था जिसकी पोर्टल पर शिकायत होने के बाद विभाग हरकत में आया और बीसीएमओ व औषधि नियंत्रक विभाग चूरू के अधिकारियों ने जांच-पड़ताल करने के बाद इसे सीज कर दिया था।
बताया गया है कि रमेश यादव उर्फ डॉ. रमेश यादव गांव में दुकान चलाते-चलाते मुन्ना भाई बन गया। थोड़े दिनों तक बहल के अस्पताल में काम करने के बाद उसने अपना खुद का अस्पताल खोल लिया और लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने लगा। उसको कोई रोकने-टोकने वाला नहीं था। रमेश यादव अपने भाई के साथ गांव में दुकान चलाता था और बाद में उसे डॉक्टर बनने का शौक लग गया और बहल के एक प्राइवेट अस्पताल में नौकरी करने लगा। इसके बाद उसने चांदगोठी में यादव हॉस्पिटल एवं मेडिकल स्टोर खोल लिया।