नशे के इंजेक्शन बेचता एडवोकेट गिरफ्तार 

मोहाली। पुलिस ने युवाओं को नशे के इंजेक्शन बेचते हुए एक वकील को गिरफ्तार किया है। बताया गया है कि आरोपी मोहाली कोर्ट में प्रैक्टिस करता था। वह नशे के इंजेक्शन खुद भी लगाता था और युवाओं को भी बेचता था। फेज-6 पुलिस चौकी के कॉन्स्टेबल राजकुमार ने आरोपी को सिविल अस्पताल के मदर एंड चाइल्ड केयर यूनिट से पकड़ा। आरोपी ने टिफिन में नशे के इंजेक्शन छिपा रखे थे। आरोपी को डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। पुलिस पूछताछ में राजकुमार ने बताया कि उसकी पत्नी अस्पताल के मदर एंड चाइल्ड केयर यूनिट में एडमिट थी। आरोपी ने नशे के इंजेक्शन बेचने का काम वहीं शुरू कर दिया। उसके घरवालों को भी पता था कि वह नशा बेचता है।
राजकुमार ने बताया कि नशा छुड़ाऊ केंद्र से जो युवक नशा छोडऩे के बाद अस्पताल के ओएसडी सेंटर में दवा लेने आते थे, आरोपी उन्हें दोबारा नशे की ओर धकेल रहा था। वह उन्हें वहां नशे के इंजेक्शन ऑफर करने लगा। इस पर एक युवक ने कॉन्स्टेबल राजकुमार को उसके बारे में बता दिया, जिस पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। राजकुमार ने बताया कि सूचना मिलने के बाद उन्होंने आरोपी का पीछा किया और उसे एक युवक को नशे के इंजेक्शन बेचते हुए देख लिया। आरोपी ने इंजेक्शन टिफिन में छिपा रखे थे। जब उसे पकड़ा गया तो वह एडवोकेट होने की धौंस जमाने लगा।
टिफिन की तलाशी लेने पर उसमें से 15 इंजेक्शन मिले, जिनमें से चार टूट गए। राजकुमार ने बताया कि नशे के इंजेक्शन मिलने पर उन्होंने अपने साथी कर्मी को वहां बुलाया, ताकि आरोपी को पकड़ा जा सके। आरोपी ने उनसे हाथापाई की। जब वो उसे मदर एंड चाइल्ड केयर सेंटर से बाहर निकालने लगे तो उसने बेहोश होने का नाटक भी किया और जमीन पर गिर गया। उसे इमरजेंसी ले जाया गया। वहां डॉक्टरों ने चेक कर बताया कि वह नॉर्मल है और ड्रामा कर रहा है। इसके बाद उसे चौकी ले जाकर एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया गया।