दवा के असली-नकली होने का पता चलेगा

नई दिल्ली। आप जल्द इस बात का पता बहुत आसानी से लगा सकेंगे कि जो दवा खरीदी है, वह असली है या नकली। इसके लिए बस आपको एक मैसेज या व्हाट्स एप संदेश भेजना होगा। देश में बड़े ब्रांड की सबसे अधिक बिकने वाली 300 दवा के लेबल पर 14 अंकों वाला एक नंबर प्रिंट होगा। बाजार में बिकने वाली दवा के हर पत्ते या बोतल पर अलग-अलग नंबर होगा।
दवा के लेबल पर एक मोबाइल नंबर भी प्रिंट किया जाएगा, जो दवा की मार्केटिंग करने वाली कंपनी जारी करेगी। 14 अंकों के इस यूनिक नंबर को लेबल पर दिए मोबाइल नंबर पर मैसेज करने पर दवा बनाने वाली कंपनी का नाम-पता, बैच नंबर, निर्माण और एक्सपायरी डेट जैसी जानकारी मिल जाएगी। इससे दवा खरीदारों को भरोसा होगा कि उन्होंने जो दवा ली है वह असली है और उसकी गुणवत्ता को लेकर भी वे निश्चिंत हो पाएंगे। इसके साथ ही दवा की जांच करने वाले अधिकारियों को बाजार में बिक रही नकली दवा का पता लगाने में भी मदद मिलेगी।