दवा पर्चियों की एंट्री में लापरवाही की तो कंप्यूटर ऑपरेटरों की खैर नहीं!

ब्यावर (राजस्थान)। मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के तहत अस्पतालों में लगे मैन विद मशीन (कंप्यूटर ऑपरेटर विद कंप्यूटर एंड प्रिंटर) ने दवा पर्चियों की एंट्री ई औषधि सॉफ्टवेयर में करने में लापरवाही बरती तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। निदेशालय ने इस मामले को गंभीरता से लिया है।
जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए संविदा आधारित मैन विद मशीन (कंप्यूटर ऑपरेटर विद कंप्यूटर एंड प्रिंटर) की सेवाएं लेने के निर्देश दिए गए थे। इन कंप्यूटर ऑपरेटरों को लेने से पहले स्पष्ट निर्देश दिए गए कि ये केवल मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना का कार्य ही संपादन करेंगे। एमएनडीवाय योजना का कार्य पूरा करने के बाद संस्थान के अधिकारी के बताए कार्य भी करने होंगे। अगर किसी भी कंप्यूटर ऑपरेटर ने दो सप्ताह कमें एमएनडीवाय का कार्य संपादन नहीं किया तो उसे बिना किसी सूचना के हटा दिया जाएगा। निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने एमएनडीवाय योजना में बरती जा रही लापरवाही को गंभीरता से लिया है। उन्होंने अपने निर्देशों में सभी पीएमओ को निर्देश दिए हैं कि मैन विद मशीन को दवा पर्चियों का ई औषधि में एंट्री करने के लिए पाबंद किया जाए और लापरवाही बरतने वाले कार्मिकों का मानदेय रोककर उन्हें नौकरी से निकाला जाए।