चार साल बाद जागे सेहत मंत्री विज

चंडीगढ़। प्रदेश में भाजपा को सत्ता संभाले करीब चार साल हो गए हैं। तब से चिर निद्रा में सोए सूबे के सेहत मंत्री अनिल विज अब जागे हैं। उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि पंजाब में बैन दवाइयों को हरियाणा में नहीं बेचा जाएगा। अगर कोई इन बैन दवाओं को बेचते मिला तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। नशा फैलने वाली दवाई के मामले में मंत्री अनिल विज ने कहा कि विभाग को आदेश दे दिया है कि पंजाब में प्रतिबंधित दवाई ( विप्रो नोरफिल ) व नशे के लिए उपयोग में लाई जाने वाली, अगर कोई ऐसी दवाई को बेच रहा है तो उस पर कार्रवाई की जाएगी। विज ने कहा कि अगर नशे को खत्म करने के लिए कोई कानून बनाना पड़ेगा तो बनाएंगे। उधर, जेल में फैल रहे एचआईवी के मामलों को लेकर स्वास्थ मंत्री अनिल विज ने कहा कि इस मामले की गहनता से जांच की जा रही है कि आखिर किस तरह से जेल में एचआइवी के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। हो सकता है कि जेल में आने से पहले ही कोई इस बिमारी से ग्रस्त हो क्योंकि जेल में कैदी को बंद करने से पहले दोषी की कोई जांच नहीं होती। विज ने कहा कि एचआइवी के मरीजों को अलग रखने की कोई जरूरत नहीं है। यह कोई छुआछूत की बीमारी नही है।