सन फार्मा ने गठिया की दवा को बाजार से मंगाया वापस, ये है कारण

sun pharma
सन फार्मा

मुंबई। सन फार्मा ने अमेरिकी बाजार से जेनेरिक दवा की 55 हजार बोतलें वापस मंगा ली है। यूएस हेल्थ रेगुलेटर के अनुसार कंपनी ने दवा निर्माण से जुड़े नियमों की अनदेखी की है। इसके चलते यह निर्णय लेना पड़ा है। बता दें कि इस दवा फेबुक्सोस्टैट का इस्तेमाल गठिया वाले लोगों में यूरिक एसिड के स्तर को कम करने के लिए किया जाता है।

यह है मामला

यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने कहा है कि मुंबई स्थित दवा कंपनी की न्यू जर्सी बेस्ड यूनिट 40 एमजी और 80 एमजी की फेबुक्सोस्टैट टैबलेट को वापस मंगा रही है। इसमें कहा गया है कि सन फार्मास्युटिकल इंडस्ट्रीज करंट गुड मैन्युफैक्चरिंग प्रैक्टिस रेगुलेशंस की अनदेखी के कारण 40 एमजी दवा की 47,520 बोतलें और 80 एमजी दवा की 7,488 बोतलें वापस मंगाई हंै।

दादरा स्थित प्लांट में किया गया था उत्पादन

यूएसएफडीए ने कहा कि मैन्यूफैक्चरिंग इक्विपमेंट के डक्ट में रुके हुए पानी में माइक्रोबियल कंटेमिनेशन की शिकायत पाई गई थी। प्रभावित लॉट का उत्पादन मेम्फिस स्थित नार्थस्टार आरएक्स एलएलसी के लिए सन फार्मा के दादरा स्थित प्लांट में किया गया था। सन फार्मा कंपनी ने बीती चार मार्च को अमेरिकी बाजार से दवाएं वापस मंगानी शुरू की हैं।