स्वास्थ्य और पोषण में फिसड्डी उत्तर प्रदेश, सर्वे में पिछड़ा

नई दिल्ली: स्वास्थ्य शिक्षा और पोषण के मानकों पर पिछड़े देश के 201 जिलों में से एक चौथाई से ज्यादा उत्तर प्रदेश के हैं। इसके बाद बिहार और मध्य प्रदेश का स्थान है। नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अमिताभ कांत ने पोषण, बचपन, गरीबी, शिक्षा, युवा और रोजगार को लेकर कराए एक सर्वे के आधार पर बताया कि इन 201 जिलों में अकेले उत्तर प्रदेश 53 जिले शामिल है। बिहार के 36 जिले और मध्य प्रदेश के 18 जिले शामिल हैं।

अमिताभ कांत ने कहा कि मेरी राय यह है कि जब तक आप नाम लेकर शर्मिदा नहीं करेंगे तब तक भारत के लिए स्वास्थ्य शिक्षा की राह में तरक्की हासिल करना बेहद मुश्किल है। उन्होंने कहा कि अच्छे शासन को अच्छी राजनीति में तब्दील होना होगा। इससे पहले अमिताभ कांत ने कहा था कि पूर्वी भारत के सात से आठ राज्य देश को पीछे धकेलने के लिए जिम्मेदार हैं।