सर्जिकल आइटम के रेट में बड़ा गोलमाल

रांची: राज्य औषधि निदेशालय की ओर से गठित टीम की जांच के बाद यह बात साफ हो गई कि सर्जिकल आइटम के लिए मरीजों से मनमाना पैसा वसूला जा रहा है। जांच करने वाली औषधि निरीक्षक मुजमपरा, घनश्याम कुमार, सवजीभाई, औषधि निरीक्षक प्रतिभा झा और चंदन प्रसाद कश्यप की टीम ने पाया कि सर्जिकल आइटम के वास्तविक मूल्य और उस पर लिखे एमआरपी में काफी अंतर है। अस्पताल और खुदरा दवा दुकानदार इसका लाभ उठाते हैं। निजी अस्पताल और दवा दुकानदार सर्जिकल आइटम बेहद कम कीमत पर खरीदते हैं और मरीजों से एमआरपी के हिसाब मोटी रकम वसूलते हैं। सामने आया कि सर्जिकल आइटम की कीमत कंपनियां अपने हिसाब से निर्धारित करती हैं। अस्पताल और दवा दुकानदार जिसमें अधिक मार्जिन होता है, उसी की बिक्री करते हैं।

जांच टीम ने लालजी हिरजी रोड स्थित मेसर्स आरवी इंटरप्राइजेज द्वारा मेडिका फार्मेसी को बेची गयी सिरींज की कीमत की पड़ताल में पाया कि आरवी इंटरप्राइजेज ने बेक्टॉन इंडिया की 10 एमएल की सिरींज मेडिका फार्मेसी को 3.45 रुपये में दी गई। इसी सिरींज को मेसर्स पाहुल इंटरप्राइजेज को 5.30 रुपये में दिया गया। एक एमएल की सिरींज को हिंदुस्तान सिरींज एंड मेडिकल डिवाइस होलसेल दुकानदार को 2.52 रुपये में बेचता है जबकि उसका एमआरपी 6.50 रुपये है। इसी तरह मेसर्स रॉमसंस एक एमएमल की सिरींज को होलसेल दुकानदारों को 2.10 रुपये में देता है जबकि उसका एमआरपी 6.50 रुपये है। मेसर्स बेक्टॉन डिकिंसन दो एमएल की सिरींज को होलसेल दुकानदार को 1.94 रुपये में देता है पर इस पर एमआरपी छह रुपए चस्पा है।

रॉमसंस जूनियर इंडिया होलसेलर को यही सिरींज 1.32 रुपये में देता है जबकि उसका एमआरपी पांच रुपये है। हाइटेक हॉस्पिटल एंड हेल्थ केयर होलसेलर को 1.07 रुपये में दो एमएल की सिरींज देता है पर उस पर एमआरपी 6.50 रुपये लिखा है। तीन एमएल की सिरींज मेसर्स बेक्टॉन डिकिंसन होलसेल दुकानदार को दो रुपये में देता है मगर उसका एमआरपी सात रुपये है। रॉमसंस जूनियर होलसेलर को 1.39 रुपये में देता है जबकि एमआरपी 5.50 रुपये है। हाइटेक हॉस्पिटल एंड हेल्थ केयर होलसेलर को 1.13 रुपये में तीन एमएल की सिरींज देता है जबकि एमआरपी 7.50 रुपये है।