मेडिकल स्टोर की आड़ में चल रहे अवैध अस्पताल का भंडाफोड़, सील किया

बिकानेर। मेडिकल स्टोर की आड़ लेकर अवैध रूप से चलाए जा रहे अस्पताल का भंडाफोड़ हुआ है। स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की टीम ने इस अस्पताल को सील कर दिया है।

यह है मामला

नोखा स्थित मस्जिद चौक में मेडिकल स्टोर की आड़ में अवैध रूप से एक निजी अस्पताल चलाया जा रहा था। स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की टीम ने सूचना मिलने पर पुलिस बल के साथ मौके पर दबिश दी। बालाजी मेडिकल एवं जनरल स्टोर के नाम से संचालित निजी क्लीनिक पर आगे मेडिकल स्टोर और पीछे पूरा अस्पताल चलाया जा रहा था।

टीम ने देखा कि अस्पताल में पांच बेड का वार्ड बनाया था और उसमें एक महिला मरीज को भर्ती कर इलाज किया जा रहा था। एक बंद कमरे को खुलवाकर देखा तो अंदर पूरा लेबर रूम बना था। इसमें लेबर टेबल, लेबर उपकरण व अवैध दवाइयां पाई गई। वार्ड में भर्ती मरीज के पास बायो मेडिकल वेस्ट के लिए एक बाल्टी रखी थी। उसमें ग्लूकोज की खाली बोतलें पड़ी थी। महिला मरीज के पास इलाज से संबंधित कोई पर्ची नहीं मिली। न ही अस्पताल में मरीज रजिस्ट्रेशन का रेकॉड व रजिस्टर मिला।

टीम ने इस संबंध में अस्पताल में मौजूद महिला संतोष से पूछा, तो उसने बताया कि यह सब डॉक्टर साहब के अधीन हैं। मौके पर कोई डॉक्टर नहीं मिला। टीम ने निजी अस्पताल को बंद करा दिया है।

कोरोना काल में भी हो चुकी कार्रवाई

बीसीएमओ डॉ. गहलोत ने बताया कि इस निजी क्लिनिक पर कोरोना काल के समय भी कार्रवाई की गई थी। उस समय यह दूसरे भवन में चौधरी हॉस्पीटल के नाम से चलाया जा रहा था। वहां से बंद करने के बाद बालाजी क्लिनिक एवं जनरल स्टोर के नाम से संचालित किया जाने लगा।

टीम में ये रहे शामिल

अवैध निजी अस्पताल पर कार्रवाई करने वाली टीम में बीसीएमओ डॉ. गहलोत, नायब तहसीलदार नरसिंह टांक, ड्रग इंस्पेक्टर राजेश मीणा, एएनएम सुशीला सहित पुलिस जाब्ता शामिल रहा।