जिला अस्पताल में दवाओं की कमी, मरीजों के लिए बनी आफत

हमीरपुर। मुख्यालय स्थित जिला अस्पताल इस दवाओं की कमी से जूझ रहा है। कारपोरेशन से दवाओं की खेप न आने के कारण यहां पर दवाओं की किल्लत है, जिसके चलते पुरुष अस्पताल के सीएमएस डॉ.विनय प्रकाश की ओर से सभी चिकित्सकों को निर्देशित किया गया है कि वह पांच दिन की बजाय तीन दिन की दवाएं ही मरीजों को लिखे। इसके अलावा बिना पर्ची वाले किसी भी मरीज को दवा न दी जाए। इसके अलावा एक नोटिस दवा काउंटर के बाहर भी चस्पा कराई गई है।

जिला अस्पताल में मौजूदा समय में सुगर, श्वांस समेत बच्चों को लैट्रिन में दी जाने वाली सीरप समेत अन्य कई दवाएं नही है। जो दवाएं जिला अस्पताल में नही हैं। उनकी मांग सीएमएस डॉ.विनय प्रकाश के द्वारा पत्र के माध्यम से की गई है। उन्होंने बताया कि जल्द ही दवाओं की खेप आ जाएगी और जिसका वितरण मरीजों को किया जाएगा। जिला अस्पताल मं प्रतिदिन 500 से अधिक मरीज अपना इलाज कराने पहुंच रहे हैं। मौसम में हुए बदलाव के चलते मरीजों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है। ऐसे में जिला अस्पताल में दवाओं की कमी मरीजों के लिए आफत बनी हुई है।

कारपोरेशन के द्वारा दवाओं की खेप न आने के कारण जिला अस्पताल में पांच दिन के बजाय तीन दिन की दवाएं लिखने के आदेश भी सभी डॉक्टरों को सीएमएस के की ओर से कर दिए गए हैं, ताकि किसी भी मरीज को दवा की किल्लत से न जूझना पड़े। सीएमएस डॉ. विनय प्रकाश ने बताया है कि कारपोरेशन से पर्याप्त दवाएं न आने के कारण यह व्यवस्था की गई है। जैसे ही दवाएं आ जाएंगी। फिर से पांच दिन की दवाएं लिखने का काम डॉक्टरों के द्वारा किया जाएगा।