14 बड़े अस्पतालों को बंद करने का नोटिस 

पटना। बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद ने जैविक कचरे (जीव-चिकित्सा अपशिष्ट) का समुचित तरीके से प्रबंधन नहीं करने वाले अस्पतालों पर गाज गिरानी शुरू कर दी है। इसके तहत पटना के 14 बड़े अस्पतालों को बंद करने का नोटिस जारी किया है। इसके अलावा पटना के सात और भागलपुर के एक अस्पताल को जैविक कचरा प्रबंधन में सुधार करने के लिए नोटिस जारी किया है।
जिन 14 अस्पतालों को बंद करने के लिए नोटिस जारी किया गया हैं उनमें आरोही हॉस्पिटल बेली रोड शेखपुरा, रई नर्सिंग होम राजाबाजार, सत्यम हॉस्पिटल शेखपुरा, न्यू मैक्स केयर राजाबाजार, गेटवेल हॉस्पिटल राजाबाजार,  महावीर वात्सल्य, महावीर आरोग्य संस्थान कंकड़बाग, पाटलिपुत्र डिवाइन हॉस्पिटल कंकड़बाग, चाणक्य हॉस्पिटल कंकड़बाग, अनुपमा हॉस्पिटल खजांची रोड, पॉपुलर नर्सिंग होम अशोक राजपथ, श्रीराम हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर कंकड़बाग, राजेंद्र नगर हॉस्पिटल, अटलांटिस सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल रूपसपुर बेली रोड शामिल हैं। इनके अलावा आठ अस्पतालों महावीर कैंसर संस्थान, रूबन इमरजेंसी एसपी वर्मा रोड,  कुर्जी होली फैमिली अस्पताल, जीवक हार्ट हॉस्पिटल कंकड़बाग, अरविंद हॉस्पिटल अशोक राजपथ, रामरतन हॉस्पिटल बाजार समिति, सिनर्जी वेस्ट मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड भागलपुर, मेडिका मगध हॉस्पिटल राजेंद्र नगर पटना को सुधार करने का नोटिस दिया गया है।