राजकीय अमृतकौर चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी नही मानते कोई सरकारी आदेश

संयुक्त निदेशक की हिदायत के बाद भी लिख रहे है ब्रांड नेम से दवाइयां संयुक्त निदेशक ने 6 जून को निर्देश देकर दी थी हिदायत

ब्यावर (कैलाश शर्मा) : मेडिकेयर न्यूज़ ने विगत दिनों समाचार प्रकाशित किया था कि राजकीय अमृतकौर चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी उड़ा रहे है राज्य सरकार के आदेश की धज्जिया…..

इस खबर पर उपभोक्ता संरक्षण परिषद के राजस्थान अध्यक्ष अध्यक्ष ने संयुक्त निदेशक अजमेर को शिकायत दी थी, उसके बाद संयुक्त निदेशक अजमेर ने 6 जून 2024 को राजकीय अमृतकौर चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ सुरेन्द्र सिंह चौहान को आदेश क्रमांक अजो/सीबी-अजमेर/2024/1767-69 दिनांक 06 जून 20204 से निर्देश दिया कि राज्य सरकार के आदेशानुसार राजकीय चिकित्सालयों में रोगियों को परामर्श के दौरान सिर्फ जेनेरिक दवाईयां (फार्मूला नेम) ही लिखने के निर्देश है,अतः आपको निर्देशित किया जाता है कि राज्य सरकार के आदेशों की पूर्ण पालना सुनिश्चित की जाये एवं भविष्य मे इस प्रकार की पुनरावर्ती ना हो इसका पूर्ण ध्यान रखा जाए।

मगर राजकीय अमृतकौर चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ सुरेन्द्र सिंह चौहान ना तो राज्य सरकार के आदेश मानते है ना ही संयुक्त निदेशक के खेर जो राज्य सरकार के आदेश को खुलेआम धज्जिया उड़ा सकते है उनके लिए संयुक्त निदेशक क्या चीज है?

आदेश के बाद भी डॉ सुरेन्द्र सिंह चौहान एक विशेष कंपनी की दवाइयां ब्रांड नेम से चिकित्सालय में लिख रहे है
अब देखना यह है कि राज्य सरकार के आदेश की धज्जियां उड़ाने व संयुक्त निदेशक के आदेशों की भी धज्जिया उड़ाने वाले डॉ सुरेन्द्र सिंह चौहान के खिलाफ राज्य सरकार व संयुक्त निदेशक अजमेर द्वारा क्या कार्यवाही अमल में लाई जाती है।