GST बैठक में दवाइयां हुई सस्ती, कैंसर की दवाएं हुईं टैक्स फ्री

GST बैठक में दवाइयां हुई सस्ती, कैंसर की दवाएं हुईं टैक्स फ्री

Medicine Cheap: मंगलवार को नई दिल्ली में जीएसटी काउंसिल की 50वीं बैठक  (GST council meeting) हुई। इस बैठक की अध्यक्षता वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) में सम्पन्न हुई। इस बैठक में कई अहम फैसले हुए। बैठक में फैसला दवाइयां की कीमत को सस्ती (Medicine Cheap) करने का फैसला लिया गया है।  कैंसर की इंपोर्टेड दवा पर इंटीग्रेटेड गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (IGST) नहीं लगेगा।

कैंसर की इंपोर्टेड हुई दवा सस्ती (Medicine Cheap) 

जीएसटी काउंसिल की 50वीं बैठक  (GST council meeting) में ये फैसला लिया गया कि अब कैंसर की इंपोर्टेड दवा पर IGST नहीं लगाया जाएगा। इंटीग्रेटेड गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (IGST) नहीं लगने पर दवाओं के दाम सस्ते हो जायेंगे। पहले से ही ऐसी उम्मीद जताई जा रही थी कि जीएसटी काउंसिल की इस बैठक में कैंसर की दवा  Dinutuximab का इंपोर्ट सस्ता हो सकता है। अब सरकार की ओर से इस पर मुहर लगा दी गई है। आपको बता दें कि फिलहाल इस पर 12 प्रतिशत IGST लगता है, जिसे काउंसिल घटकार जीरो कर दिया है। इस दवा का एक डोज 63 लाख रुपये का है। इससे गरीब मजदूर तबके के लोगों को भी  फायदा होगा।

ये चीजें भी हुई सस्ती 

GST Council की बैठक के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि चार आइटम पर GST में कटौती का फैसला लिया गया। इसके अलावा UNCOOKED आइटम पर जीएसटी को 18 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत कर दिया गया है।जरी धागा पर टैक्स को 12 फीसदी से कम करते हुए अब 5 प्रतिशत किया गया है।  सिनेमा हॉल में मिलने वाले फूड एंड बेवरेज पर जीएसटी को 18 प्रतिशत से कम करके पांच प्रतिशत कर दिया गया है। अनकुक्ड फूड पैलेट, मछली और सॉल्यूब पेस्ट पर भी टैक्स घटाया गया है।

इन पर टैक्स की हुई बढ़ोतरी 

जीएसटी काउंसिल ऑनलाइन गेमिंग को एक झटका दिया है। काउंसिल ने ऑनलाइन गेमिंग की फुल वैल्यू पर 28 प्रतिशत जीएसटी लगाने का फैसला लिया है। मल्टी पर्पस कारों (MUV) पर 22 प्रतिशत कंपनसेशन सेस लगाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है, जो कि 28 प्रतिशत जीएसटी के अतिरिक्त होगा। यानि की अब कार खरीदना महंगा पड़ेगा।

ये भी पढ़ें- नकली दवा निर्माताओं के खिलाफ नकेल कसेगी सरकार

Advertisement