चैरिटेबल हॉस्पिटल का संचालन करती पकड़ी गई फर्जी महिला डॉक्टर

नवांशहर (पंजाब)। चैरिटेबल हॉस्पिटल का संचालन करते हुए एक फर्जी महिला डॉक्टर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मिली शिकायत पर जांच की तो कथित महिला डॉक्टर की सभी डिग्रियां जाली पाई गई।

यह है मामला

गांव लोहट बलाचौर निवासी पीडि़त महिला के पति गुरप्रीत सिंह ने सिविल सर्जन को शिकायत दी। शिकायत में बताया गया कि नवांशहर में एक महिला डॉक्टर नकली डिग्री बनवाकर सुनीता चैरिटेबल के नाम से हॉस्पिटल चला रही है। शिकायत के आधार पर सिविल सर्जन ने एक टीम को गठित कर इसकी जांच के लिए भेजा। इसके बाद नवांशहर पुलिस ने जांच कर इस पूरे मामले का पर्दाफाश किया। महिला डॉक्टर सुनीता शर्मा को बलाचौर पुलिस ने धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है।

सुनीता चैरिटेबल अस्पताल मेंं करवाया इलाज

गुरप्रीत सिंह ने सिविल सर्जन को शिकायत में बताया कि उसकी पत्नी प्रेग्नेंट थी। इसके चलते वह इलाज करवाने के लिए बलाचौर के मढ़ीयानी रोड पर स्थित सुनीता चैरिटेबल अस्पताल में डॉक्टर सुनीता शर्मा के पास गए। डॉक्टर सुनीता ने उनकी पत्नी से पूछा कि आपके कितने बच्चे है। पीडि़ता पत्नी ने बताया कि एक लडक़ा और एक लडक़ी है।

दवा देकर कर डाला अबॉर्शन

इसके बाद डॉक्टर सुनीता ने कहा कि कुछ दवाइयां खाने को दी। गुरजीत ने डॉक्टर के कहने के अनुसार दवाई खा लीं। इसके बाद गुरजीत की हालत बिगडऩे लगी तो सुनीता शर्मा ने उसका अबॉर्शन कर दिया। इसके बाद भी जब हालात गंभीर बनी रही तो गुरजीत ने दूसरे डॉक्टर से सलाह ली। वहां डॉक्टर ने उसे नवनूर अस्पताल में स्कैन करवाने के लिए भेजा।

बच्चेदानी में कट लगा मिला

चैरिटेबल हॉस्पिटल
concept image

स्कैन करवाने के लिए डॉक्टर ने रिपोर्ट देखकर कहा कि इसकी हालत ज्यादा खराब है। गुरजीत की बच्चेदानी में कट लगा हुआ है। इसका तुरंत ऑपरेशन करना पड़ेगा। अंदर रह गए पीस को बाहर निकालना जरूरी है। पीडि़त महिला ने वहां पर अपना ऑपरेशन करा लिया। इसके कुछ दिन बाद जब गुरजीत कौर ठीक हुई तो उन्होंने फर्जी डॉक्टर सुनीता शर्मा के खिलाफ शिकायत की। शिकायत पर जांच की तो कथित महिला डॉक्टर की सभी डिग्रियां जाली पाई गई। फर्जी महिला डॉक्टर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।