डेंगू के इलाज के नाम पर बनाया 4 लाख से ज्यादा का बिल

सोनीपत। सोनीपत में स्थित गांव लिवासपुर निवासी एक किसान ने डीसी, सीएमओ को शिकायत दी थी कि उसके बेटे के डेंगू के इलाज के मात्र 6 दिन के चार लाख 50 हजार रूपये लिए गए है। जिसके बाद सिविल सर्जन ने एक डाक्टरों की टीम के द्वारा जांच करवाई गई तो पाया गया कि इलाज में कमी है। जिसके बाद डीसी को जांच रिपोर्ट सौपी गई थी। लेकिन बहुत समय होने के बाद डाक्टरों पर कोई कारवाई न होने पर जगत सिहं ने कोर्ट का दरवाजा खटखटया है जिसके बाद अब फिम्स अस्पताल के मालिक समेत 11 डाक्टरों पर कोर्ट के आदेश के बाद राई थाने में मामला दर्ज हो चुका है। वहीं पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

गांव लिवासपुर निवासी जगत सिंह ने बताया कि बीते सितम्बर माह में उसने बुखार कि शिकायत के चलते फिम्स अस्पातल में भर्ती करवाया था। जिसके बाद बार-बार प्लेट लेटस कम बता कर पैसे लेते रहे और मात्र 6 दिन में कुल चार लाख 50 हजार रूपये लिए और इलाज भी सही नही किया गया। वहीं पुरे मामले की शिकायत डीसी को दी गई और सिविल सर्जन ने डाक्टरों की टीम ने पुरे मामले की जाच की गई जिसमें इलाज में कमी पाई गई थी। लेकिन डाक्टरों पर कोई कार्रवाई ने होने के बाद जगत सिंह ने अब कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है और कोर्ट के आदेश के बाद अब फिम्स अस्पातल के संचालक सहित 11 डाक्टरों पर मामला दर्ज किया गया है। जिसके बाद जगत सिंह और उसके परिवार ने खुशी जताई  है और कहा कि अब न्याय की उम्मीद है।

पूरे मामले में एएसपी डीके भारद्वाज ने बताया कि फिम्स अस्पातल के संचालक सहित 11 डाक्टरों पर मामला दर्ज हुआ है। जिनमें राजपाल जैन अनिल जैन और अन्य 9 डाक्टर है मामले में इलाज में लापरवाही बरतने का मामला था और पुरे मामले में जांच की जाएगी और उसके बाद ही कोई आगे की कारवाई की जाएगी।