उतराखंड में फार्मा कंपनियों पर ड्रग विभाग की बड़ी कार्रवाई

भगवानपुर(उत्तराखंड): क्षेत्र के मक्खनपुर और खेलपुर में बीते दिनों नकली दवाओं का जखीरा मिलने पर स्थानीय ड्रग कंट्रोल अधिकारी हरकत में आ गए। फार्मा कंपनियों की लगातार जांच पड़ताल चल रही है। सिकंदरपुर स्थित अल्ट्रामेड फार्मा कंपनी पहुंच ड्रग इंस्पेक्टर ने दवाइयों के रैपर के साथ ही दस्तावेजों की गहन जांच पड़ताल की। ड्रग इंस्पेक्टर को अंदेशा है कि नकली दवा का कारोबार करने वाली लिंकर फार्मा से इस कंपनी के तार जुड़े हैं। लिंकर फार्मा की दवाओं के रैपर पर अल्टामेट फार्मा का पता होने से यह आशंका जोर पकड़ रही है। नकली दवाओं के खेल में कई और फार्मा कंपनियों की संलिप्तता से भी इंकार नहीं किया जा सकता।
      जानकारी के मुताब‌िक इसमें लिंकर फार्मा के मालिक और अल्ट्रामेड लाइफ साइंस कंपनी के चार पार्टनर शामिल हैं। इनमें से दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि अन्य आरोपियों की तलाश के लिए दबिश दी जा रही है। विभागीय अधिकारियों के अनुसार कुछ अन्य फार्मा कंपनियों पर भी जल्द ही कार्रवाई की जा सकती है।
       बता दें कि भगवानपुर क्षेत्र के मक्खनपुर स्थित एक गोदाम में नकली दवाओं का जखीरा मिला था। पड़ताल में ये दवाएं लिंकर फार्मा की होने की बात सामने आई थी। टीम ने दवाओं के रैपर के साथ कई दस्तावेज कब्जे में लिए थे। स्थानीय ड्रग अधिकारियों ने गिरोह के तार दूसरे राज्यों से जुड़े होने की भी आशंका जताई थी। जब्त दस्तावेजों में ड्रग अधिकारियों के हाथ एक डायरी लगी है जिसमें कई फार्मा कंपनियों के नाम लिखे हैं। इसी आधार पर जांच पड़ताल चल रही है। क्षेत्र की आधा दर्जन से अधिक फार्मा कंपनियों में छापेमारी की गई। ड्रग इंस्पेक्टर नीरज कुमार टीम के साथ डायरी में लिखे पते के आधार पर सिकंदरपुर स्थित अल्टामेट फार्मा कंपनी पहुंचे। यहां टीम ने दवाइयों के रैपर के साथ दस्तावेजों की गहनता से जांच पड़ताल की।