डॉक्टर की लापरवाहीडॉक्टर की लापरवाही, आधे घंटे में चढ़ा दिया दो यूनिट खून, मरीज की मौत, मामला दर्ज

डॉक्टरों की लापरवाही का एक और मामला सामने आया है। बता दें कि एक मरीज को आधे घंटे में दो यूनिट खून चढ़ा दिया जिसकी उपचार के दौरान मौत हो गई। दरअसल अंबाला कैंट के नागरिक अस्पताल में डायलसिस के दौरान हुई लापरवाही में एक मरीज की मौत हो गई।

अंबाला। डॉक्टरों की लापरवाही का एक और मामला सामने आया है। बता दें कि एक मरीज को आधे घंटे में दो यूनिट खून चढ़ा दिया जिसकी उपचार के दौरान मौत हो गई। दरअसल अंबाला कैंट के नागरिक अस्पताल में डायलसिस के दौरान हुई लापरवाही में एक मरीज की मौत हो गई। गृहमंत्री अनिल विज के आदेश पर अब पुलिस ने टेक्नीशियन राहुल के खिलाफ लापरवाही का मामला दर्ज किया है।

गृहमंत्री अनिल विज को शिकायत देकर अधोया हिंदवान गांव के रहने वाले नवीन शर्मा ने बताया कि नागरिक अस्पताल के डीसीडीसी डायलिसस सैटर में उसके पिता का उपचार चल रहा था। 24 जनवरी 2021 को उसके पिता को सेंटर में 2 यूनिट खून आधे घंटे में चढ़ा दिया गया था। इसकी वजह से उसके पिता की तबीयत खराब हो गई थी। इसी वह से उसके पिता को यमुनानगर के गाबा अस्पताल में दाखिल करवाया गया। यहां उन्हें आईसीयू में 15 दिन रखा गया। तब उनका उपचार कर रहे डॉक्टर ने बताया कि गलत तरीके से खून चढ़ाने की वजह से उसके पिता की हालत खराब हुई है।

2 यूनिट खून चढ़ाने की प्रक्रिया 7-8 घंटे में होती है। मगर टेक्नीशियन राहुल ने आधे घंटे में ही दो यूनिट खून चढ़ा दिया था। गाबा अस्पताल में आराम न होने के बाद नवीन ने अपने पिता को एमएम अस्पताल मुलाना में दाखिल करवाया। यहां भी वे दस दिन तक आईसीयू में दाखिल रहे। यहां भी उसे बताया कि ओवर स्पीड से खून चढ़ाने के कारण उसके पिता की सेहत खराब हुई है। उसकी पिता चलने फिरने से लाचार हो गए थे। जबकि टांगें भी बेहद कमजोर हो गई थी। 8 मार्च 2021 को नागरिक अस्पताल में उपचार के दौरान ही उनके पिता की मौत हो गई थी। नवीन ने बताया कि तब उसने खून चढ़ाने में हुई लापरवाही की शिकायत की थी लेकिन किसी ने कार्रवाई नहीं की। परिवादी का आरोप कि इंसाफ के लिए वह पिछले कई महीने से ठोकरें खा रहा है। अब विज के आदेश पर सेंटर व टेक्नीशियन के खिलाफ लापरवाही का केस दर्ज किया गया है।