नर्सिंग होम पर छापा मिली प्रतिबंधित दवाए

झज्जर

पीएनडीटीएक्ट के तहत गठित जिला टास्क फोर्स ने झज्जर बस स्टैंड के समीप में धनखड़ नर्सिंग होम पर छापा मारकर एमटी किट अन्य प्रतिबंधित दवाएं कब्जे में ली हैं। नर्सिंग होम में उक्त किट दवाओं के इस्तेमाल के लिए पंजीकरण भी नहीं था। इस मामले में नर्सिंग होम संचालक के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई की।

सिविल सर्जन डॉ. ईश्वर सिंह के निर्देश पर गत दिवस को पीएनडीटी के नोडल अधिकारी एवं उप सिविल सर्जन डॉ. राकेश कुमार के नेतृत्व में उप सिविल सर्जन डॉ. राजकरण, डॉ. विनीत, डॉ. रूचिका, डॉ. कमल, ड्रग कंट्रोलर विजयराजे ने संयुक्त रूप से झज्जर शहर के बस स्टैंड के समीप एक नर्सिंग होम पर छापा मारा। छापे के दौरान नर्सिंग होम में रखे कूड़ेदान में प्रयोग की गई एमटी किट नर्सिंग होम में अन्य प्रतिबंधित दवाएं बरामद की। नोडल अधिकारी डॉ. राकेश ने बताया कि नर्सिंग होम इस प्रकार की प्रतिबंधित दवाएं रखने के लिए रजिस्टर्ड नहीं था और जांच के दौरान प्रयोग की गई दवाएं भी कूड़ेदान में मिली हैं। डॉ. राकेश ने कहा कि झज्जर जिले में किसी भी रूप से लिंग का पता लगाने वाले नर्सिंग होम पर विभाग की पैनी नजर है और यदि कोई नियमों की अनदेखी करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई करने में विभाग पूर्णतया सतर्क है।

डीसी अनिता यादव ने कहा कि लिंगानुपात से विकृत होती सामाजिक संरचना को सुधारने के लिए लोगों को जागरूक होना पड़ेगा। जांच अधिकारी ने बताया कि नर्सिंग होम में प्रतिबंधित दवाएं मिली है। अभी मामले की जांच होगी। यदि मौके पर कोई यह सब करता हुआ मिलता, तो उसकी तुरंत गिरफ्तारी भी करते। मामला अधिकारियों की जानकारी में है।