सेनेटरी पैड की आड़ में फेन्साडिल कफ सिरप की तस्करी, 20800 बोतल सिरप बरामद

लखनऊ। सेनेटरी पैड की आड़ में फेन्साडिल कफ सिरप की तस्करी का मामला पकड़ में आया है। इसे लखनऊ से पश्चिम बंगाल भेजा जा रहा था। एसटीएफ ने कार्रवाई करते हुए एक आरोपी को गिरप्तार किया है। जांच में पता चला कि इस गैंग के सदस्य प्रतिबंधित कफ सीरप को बीते कई वर्षों से बिहार, झारखंड, असम , पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश में सप्लाई कर चुके हैं।

एसटीएफ के एसएसपी विशाल विक्रम सिंह ने जानकारी दी कि काफी दिनों से गैंग के बारे में सूचना मिल रही थी। पता चला कि लखनऊ के ट्रांसपोर्ट नगर में एक ट्रक बड़ी मात्रा में फेन्सेडिल कफ सिरप लेकर पश्चिम बंगाल में सप्लाई करने के लिए जा रह है। इस पर एक टीम मौके पर पहुंची, जहां ट्रक सहित उसके ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया। सेनेटरी पैड के साथ 20800 बोतल फेन्साडिल कफ सिरप को जब्त कर लिया गया है।

जब्त की गई गाड़ी हरियाणा की 

पूछताछ में आरोपी ड्राइवर धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि जब्त की गई गाड़ी हरियाणा की है। इसके मालिक संतोष यादव है। इस गाड़ी को माल लेकर हरियाणा व पीतमपुरा दिल्ली से आसाम जाना था। आरोपी की बदरपुर नई दिल्ली में आगरा के रहने वाले राविन सिंह से मुलाकात हुई थी। उसने बताया कि ट्रान्सपोर्ट लखनऊ से सामान कुचबिहार, पश्चिम बंगाल ले जाना था।

आरोपी ड्राइवर को दिया था 30 हजार रुपये का लालच

लखनऊ आकर आरोपी ने राविन द्वारा दिए गए नंबर पर फोन किया। फोन करने पर मिलने आये व्यक्तियों के साथ आरोपी ने जाकर ट्रान्सपोर्ट नगर लखनऊ स्थिति गोदाम से फेन्साडिल कफ सिरप गाड़ी में लोड कर ली। गिरफ्तार आरोपी को यह माल पश्चिम बंगाल पहुँचाने पर 30 हजार देने का लालच दिया गया था। आरोपी ड्राइवर इसके पहले भी अनेक बार ट्रान्सपोर्ट नगर लखनऊ से फेन्साडिल सिरप पश्चिम बंगाल ले जा चुका है।

सेनेटरी पैड

उल्लेखनीय है कि औषधियों का भण्डारण व क्रय-विक्रय औषधि एवं प्रसाधन सामग्री नियमावली, 1945 के अधीन निर्गत लाइसेंस के अन्तर्गत किया जाता है। गिरफ्तार अभियुक्त के खिलाफ सुशांत गोल्फ सिटी में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

 

Advertisement