भारत पोलियोमुक्त तो ब्राजील खसरामुक्त

रोहतक: विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) समेत तमाम सर्वेक्षणों, रिपोर्टों के बाद पिछले दिनों जब भारत को पोलियोमुक्त घोषित किया गया तो स्वास्थ्य जगत में खुशी की लहर दौड़ गई। अब इसी तरह की खुशी का मौका स्वास्थ्य की दुनिया में फिर आया है। डब्ल्यूएचओ ने ब्राजील को पिछले एक वर्ष में खसरे का कोई भी मामला न मिलने के कारण खसरामुक्त घोषित कर दिया है। खसरा उन्मूलन के लिए डब्ल्यूएचओ की अंतरराष्ट्रीय समिति के अध्यक्ष मर्सिलीन डाहल-रेगिस ने जारी बयान में कहा कि कई वर्षों से चलाए जा रहे खसरा उन्मूलन अभियान में अथक मेहनत से यह सुखद परिणाम मिला है। शीघ्र ही संगठन ब्राजील को खसरामुक्ति का प्रमाण प्रदान करेगी।
ब्राजील में 1985 से 2000 तक खसरे का कोई घरेलू मामला सामने नहीं आया है। हालांकि 2013 में ब्राजील के पूर्वोत्तर राज्य पेरनामबुको और सियारा में खसरे के मामले सामने आए थे। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि उन्होंने इस रोग को लेकर पैन अमेरिकन हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (पीएएचओ) के साथ काम किया था। खसरा नियंत्रण और ब्राजील में 165 नर्सिंग स्टाफ की भर्ती के लिए 12 करोड़ रियाल का संयुक्त निवेश किया गया था।