नशे का खेल, कागजों पर फर्म बनाकर नशेड़ियों को बेच रहे पेनकिलर

दवा
concept image

जबलपुर : मध्यप्रदेश के जबलपुर में पेनकिलर के रूप में उपयोगी इंजेक्शन फर्जी फर्मों के जरिए नशेड़ियों को बेचे जा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है जहां

जबलपुर में एक ऐसी ही फर्जी फर्म का पता चला है। अहमदाबाद की दवा निर्माता कंपनी ने दिल्ली के सप्लायर के माध्यम से कागजों में संचालित फर्म के नाम पर बड़ी मात्रा में पेनकिलर इंजेक्शन की आपूर्ति की थी।

जानकारी अनुसार इंजेक्शन की खेप बिचौलियों के माध्यम से नशेड़ियों को बेची जाती रही। अवैध कारोबार का खुलासा पुलिस की कार्रवाई से हुआ। भनक लगने पर पुलिस ने इसका धंधा करने वाले को पकड़ा तब जाकर मामले ता खुलासा हो सका।
जांच के दौरान पता चला कि फर्म के नाम पर खरीदे गए दर्द निवारक बुपिन इंजेक्शन किसी अस्पताल को सप्लाई न कर नशेडि़यों को बेचे जा रहे थे। फर्म का पंजीयन एक महिला के नाम पर मिला। महिला की शादी हो चुकी है, जिसके बाद फर्म का संचालन उसका भाई करने लगा।

ड्रग इंस्पेक्टर के पत्राचार के बाद कंपनी ने उक्त फर्म के नाम पर इंजेक्शन की आपूर्ति रोक दी है। दवा निर्माता कंपनी व सप्लायर से ड्रग इंस्पेक्टर ने पूछा है कि कागजों में संचालित उक्त फर्म को किस आधार पर इंजेक्शन की आपूर्ति की जा रही थी।

Advertisement