दवाइयां चुराकर नशा मुक्ति केंद्र में करते थे सप्लाई, दो अरेस्ट

गोरखपुर। दवाइयां चुराकर निजी नशा मुक्ति केंद्र में सप्लाई करने के आरोप में दो लोग गिरफ्तार किए गए हैं। चोरी की जाने वाली दवाइयां बाजार में नहीं मिलती हैं। इस कारण आरोपी इन्हें ओएसटी सेंटर से चोरी कर महंगे दामों पर बेच देते थे। पुलिस ने दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।

यह है मामला

जानकारी अनुसार, बीआरडी मेडिकल कॉलेज के मानसिक रोग विभाग में सोमवार की सुबह ओपीडी थी। सुबह जब कर्मचारी पहुंचे तो देखा कि ओपीडी के कमरे का ताला टूटा पड़ा था। अंदर अलमारी में रखी ओएसटी की दवा गायब मिली। अलमारी में रखे कागजात बिखरे हुए थे। यह स्पष्ट था कि यहां से दवा चोरी की गई है। बीते माह 16 दिसंबर को भी यहां से 1597 गोलियां चोरी हो गई थी।

1950 रुपये भी बरामद किए

विभागाध्यक्ष डॉ. तपस कुमार ने इस संबंध में पुलिस में शिकायत दी थी। शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पुलिस चोरों की तलाश में जुट गई। बीते दिवस पुलिस ने मेडिकल कॉलेज परिसर से दो लोगों रहमान निवासी लालगंज जंगल छत्रधारी थाना पिपराइच व संजय सिंह निवासी मसहवा लच्छीपुर थाना गोरखनाथ को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इनके पास से 1950 रुपये भी बरामद किए हैं। पुलिस को आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि संजय सिंह ने मुगलहा में नशा मुक्ति केंद्र की फ्रेंचाइजी ले रखी है। वह ओएसटी सेंटर से दवा चोरी कर इन्हें बेच देता था।

दवाइयां

दोनों को जेल 

पुलिस के अनुसार 16 दिसंबर को भी गोलियां चोरी करने की वारदात को इन्हीं दोनों आरोपियों ने अंजाम दिया था। दरअसल, चोरी की यह दवा बाजार में नहीं मिलती है। इस कारण दवा को चोरी कर कीमती दाम पर बेचा जा रहा था। पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ दवा चोरी का केस दर्ज कर कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने दोनों को जेल भेज दिया है।

Advertisement